क्या अमरिंदर को नहीं था PK पर भरोसा ? सुखबीर बादल समेत कई नेताओं ने चुनावी रणनीति के लिए ली कंपनियों की सेवाएं

चंडीगढ़। पंजाब में अगले साल विधानसभा चुनाव होने वाले हैं। ऐसे में तमाम पार्टियों ने रणनीतियां और कार्ययोजना बनाने के लिए चेन्नई से लेकर पलामू तक की कंपनियों की मदद ले रही हैं। पंजाब विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बहुत सी कंपनियां 5 लाख रुपए से लेकर 2 करोड़ रुपए प्रति सीट तक वाली कंपनियां जुटी हुई हैं। 

इसे भी पढ़ें: अमरिंदर सरकार पर हमलावर रहने वाले सिद्धू क्यों हैं खामोश ? क्या है असल मामला 

अमरिंदर के पोते संभाल रहे जिम्मेदारी 

अंग्रेजी समाचार वेबसाइट ‘इंडियन एक्सप्रेस’ में प्रकाशित खबर के मुताबिक, चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के सलाहकार पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसके बाद उन्होंने उनकी कंपनी की सेवाएं नहीं लेने का फैसला किया है। ऐसे में उनके पोते ने ही जिम्मेदारी संभाल ली है। जबकि शिरोमणि अकाली दल प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने माइंडशेयर एनालिटिक्स की मदद ली है। 

पंजाब के छोटे-मोटे दलों ने भी अलग-अलग कंपनियों को रणनीति बनाने की जिम्मेदारी सौंपी है। चेन्नई के सुनील कानुगोलु की माइंडशेयर एनालिटिक्स के अलावा, चंडीगढ़ की डिजाइन बॉक्स्ड, बेंगलुरु की पोल मैट्रिक्स कंसल्टिंग प्राइवेट लिमिटेड, झारखंड के पलामू की कॉग्नेट आरंभ सर्विसेज और गुड़गांव की पॉलिटिकल एज सहित कई अन्य एजेंसियों ने मोर्चा संभाल रखा है। 

रिपोर्ट के मुताबिक यह तमाम कंपनियां अपने-अपने ग्राहकों के लिए सर्वे का काम शुरू कर चुकी हैं। प्राप्त जानकारी के मुताबिक कंपनियों के पैकेज में सर्वे, डोर-टू-डोर कैंपेन, सोशल मीडिया, फोटोग्राफी, वीडियोग्राफी, एडिटिंग इत्यादि शामिल हैं। इसके अलावा कंपनियां कॉपी राइटर्स की भी भर्तियां कर रही हैं। ताकि कैंपेन के लिए अच्छे नारे समेत इत्यादि कामों में उनका उपयोग किया जा सके। 

इसे भी पढ़ें: दिल्ली में भी कर सकेंगे चारों धाम के दर्शन, देश के दार्शनिक स्थलों का भी संगम होगा पंजाबी बाग का पार्क 

खन्ना के एक रियल एस्टेट डेवलपर रूपिंदर सिंह राजा गिल ने अरंभा सर्विसेज को काम पर रखा है। जो साहनेवाल से चुनाव लड़ना चाहते हैं और उन्होंने कांग्रेस से टिकट की मांग की है। यह कंपनी खन्ना के विधायक गुरकीरत कोटली और पायल विधायक लखवीर लखा के लिए भी चुनावी रणनीतियां बनाने का काम कर रही हैं।

शिअद के पास है 100 करोड़ का बजट

हाल ही में माइंडशेयर एनालिटिक्स ने शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल के लिए ‘गल पंजाब दी कैंपेन’ की शुरुआत की है। जिसके तहत सुखबीर सिंह बाद पूरे प्रदेश की यात्रा करने वाले हैं। शिअद की पीआर एंड कम्युनिकेशन टीम के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि कंपनी पार्टी के चुनावी कैंपेन के साथ-साथ सदस्यों को भी जोड़ने का काम करेगी। पार्टी ने अभियान गतिविधियों के लिए 100 करोड़ रुपए से अधिक के बजट रखा है, जिसमें कंपनी का सर्विस चार्ज भी शामिल है और इसके लिए हम उम्मीदवारों से भी योगदान ले रहे हैं। 

रिपोर्ट के मुताबिक माइंडशेयर एनालिटिक्स के अलावा शिअद उम्मीदवारों ने भी अपने स्तर पर दूसरी कंपनियों का काम की जिम्मेदारी सौंपी हैं। इसमें दाखा विधायक मनप्रीत सिंह अयाली, मोगा उम्मीदवार बरजिंदर सिंह माखन बराड़ इत्यादि अकाली नेता शामिल हैं।  

इसे भी पढ़ें: पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के लिए टीम बीजेपी तैयार, धर्मेंद्र प्रधान को बनाया UP प्रभारी, शेखावत को पंजाब की कमान 

मनप्रीत सिंह अयाली के एक सहयोगी ने बताया कि मैं कई कंपनियों के साथ बातचीत कर रहा हूं। जब आपके पास जमीनीस्तर पर काम के लिए समर्पित टीम हो तो चुनाव लड़ना और भी ज्यादा आसान हो जाता है।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply