कारगिल पर प्रतिभा सिंह के बयान से दुख पहुंचा , प्रतिभा सिंह को मजबूरी में नहीं लड़ना चाहिए चुनाव: जयराम

करसोग। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंगलवार को करसोग विधानसभा क्षेत्र के केलोधार में बीजेपी प्रत्याशी खुशाल ठाकुर के लिए जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस प्रत्याशी प्रतिभा सिंह द्वारा कारगिल युद्ध पर बीते दिन बयान पर भी सवाल उठाए।
 
 
जयराम ठाकुर ने कहा कि मुझे बहुत विचित्र लगा जब प्रतिभा सिंह ने कारगिल को लेकर बयान दिया। उन्होंने कहा, “मैं किसी के बारे में व्यक्तिगत नहीं बोलता लेकिन कल जो उन्होंने कहा, उससे दुख पहुंचा। कारगिल में हमारे हिमाचल के 52 जवान शहीद हुए और इस युद्ध को छोटी सी लड़ाई कहा जा रहा है। 
 
 

इसे भी पढ़ें: शिमला नगर व आसपास के उप-नगरों में विजय दशमी के दिन रावण पुतला दहन कार्यक्रम आयोजन से पूर्व स्थानीय प्रशासन से अनुमति लेना अनिवार्य – उपायुक्त

 
इससे पहले मुख्यमंत्री ने कहा, “प्रतिभा सिंह पहले ही मंडी में कह चुकी हैं कि वो ये चुनाव नहीं लड़ना चाहती थीं। अगर ऐसा है तो उन्हें मजबूरी में इलेक्शन नहीं लड़ना चाहिए। सीएम ने कहा, “आज मोदी जी के हाथों को मजबूत करने की जरूरत है। मैं खुले तौर पर कह रहा हूं कि मंडी हमारी थी और हमारी रहेगी। मंडी के लोगों को नेतृत्व करने का सौभाग्य मिला है। मंडी लोकसभा क्षेत्र लंबे अरसे से मुख्यमंत्री के लिए प्रयत्न कर रहा था। बारी-बारी से सभी लोकसभा क्षेत्रों से मुख्यमंत्रियों को मौका मिला। कांगड़ा, हमीरपुर, शिमला से भी मुख्यमंत्री बन चुके थे। आखिर में मंडी को मौका मिला। 
 
 
मुख्यमंत्री ने कहा कांग्रेस के लोग कह रहे हैं कि परिवर्तन करो। दिल्ली और हिमाचल में बीजेपी सरकार बहुमत से चल रही है। आज परिवर्तन नहीं ईमानदार सरकार को मजबूत करने की आवश्यकता है।  जयराम ठाकुर ने कहा कि कांग्रेस के लोग आपके बीच आएंगे और कमियां निकालने की कोशिश करेंगे। उन्होंने कहा, “इससे पहले जब दिल्ली में कांग्रेस की सरकार होती थी तो लोगों को पता चलता था कि लाखों-करोड़ों का घोटाला हुआ। आज मोदी सरकार को बने हुए सात साल हो गए लेकिन एक रुपये का घोटाला नहीं हुआ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आज अपना कोई परिवार नहीं, देश के लोग ही उनका परिवार हैं। हमारा कर्तव्य है कि हम उन्हें और मजबूत करें। 
 
 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर साधारण परिवार से जनता का दर्द समझते है,इन उपचुनावों में अर्की में खिलेगा कमल जीतेगी भाजपा : कश्यप

 
बीजेपी के पूर्व सांसद का जिक्र करते हुए सीएम ने कहा कि रामस्वरूप शर्मा का करसोग बहुत आना-जाना होता था। मैं जब भी उन्हें फोन कर पूछता था कि आप कहां हैं तो वो कहते थे कि मैं करसोग में हूं। आज हमें उनकी कमी महसूस हो रही है।मुख्यमंत्री ने कहा, “वीरभद्र सिंह, महेश्वर सिंह, ठाकुर गंगा सिंह, प्रतिभा सिंह भी यहां से सांसद रहीं, लेकिन सबसे ज्यादा वोटों से जीतने का रिकॉर्ड रामस्वरूप शर्मा के पास है।”
 
 
मुख्यमंत्री ने कहा, “हमारे सराज विधानसभा क्षेत्र के छतरी का इलाका करसोग का लगता है। मैं हमेशा इस बात का जिक्र करता हूं कि करसोग और सराज विधानसभा क्षेत्र में कोई अंतर नहीं हैं। दोनों विधानसभाओं का पहनावा, रहन-सहन, खान-पान और दिक्कतें एक जैसी हैं। आप पड़ोसी हैं और हमारे साथ चट्टान के साथ खड़े रहें।”
 
 
जयराम ठाकुर ने कहा, “2019 लोकसभा के चुनाव में करसोग से 27 हजार की बढ़त मिली थी। इस बार ये बढ़त 30 हजार की होनी चाहिए। हमारे प्रत्याशी वो खुशाल ठाकुर हैं, जिन्होंने कारगिल से दुश्मनों को खदेड़ा था। हमारे लिए गर्व की बात है कि कारगिल की लड़ाई उन्होंने लड़ी और उसमें जीत हासिल की।”
 
 
कोविड का जिक्र करते हुए जयराम ठाकुर ने कहा कि मुझसे पहले पांच मुख्यमंत्री प्रदेश में हुए, लेकिन उन्हें सामान्य परिस्थितियों में काम करने का मौका मिला। हमारी बारी आने पर परिस्थितियां असामान्य थीं। इसमें कोरोना का संकट सबसे बड़ा था। कोविड के संकट के बावजूद हमने विकास को गति देने की कोशिश की। कोरोना के कारण जिस तरह से काम करना चाहते थे वैसे काम करने का समय नहीं मिला।
 
 

इसे भी पढ़ें: मंदिर में आने जाने के लिये सुरक्षा कारणों से अलग अलग रास्ते बनाए गए हैं मंदिर अधिकारी

 
मुख्यमंत्री ने कहा, “कोरोना आने से पहले ही मैंने सवा साल में ही 68 विधानसभाओं का दौरा कर लिया था। इसके बाद कोरोना आया तो लोगों के बीच नहीं जा सके। फिर भी हमने ऑनलाइन उद्घाटन व शिलान्यास किए। हमारी किस्मत में लिखा था कि हमें परीक्षाओं के दौर से गुजरना पड़ेगा। मैं सभी लोगों का आभारी हूं कि उस दौर में आपने हिम्मत से हमारा साथ दिया। अब आपका फिर सहयोग चाहिए, खुशाल ठाकुर जी को बड़े अंतर से विजयी बनाएं।”

Source Link

Leave a Reply