असम सरकार निजी नौकाओं को निशुल्क समुद्री इंजन देगी

असम सरकार ने रविवार को कहा कि वह सैकड़ों निजी यात्री नौकाओं को निशुल्क समुद्री (मरीन) इंजन मुहैया कराएगी।
सरकार ने एक बयान में कहा कि समूचे राज्य में नौका चलाने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) के तहत कई सुरक्षा उपाय जारी किए गए हैं, खासकर, जोरहाट में निमती घाट और माजुली के बीच के लिए, जहां पिछले हफ्ते नौका दुर्घटना हुई थी।

इस घटना में दो लोगों की मौत हो गई थी और एक व्यक्ति अब भी लापता है। मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा की अध्यक्षता में शनिवार शाम यहां हुई अंतर्देशीय जल परिवहन निदेशालय (डीआईडब्ल्यूटी) की समीक्षा बैठक में यह निर्णय लिया गया।

बयान के मुताबिक, राज्य सरकार एक विशेष योजना के तहत आवेदन करने वाले 850 निजी यात्री नौकाओं को निशुल्क समुद्री इंजन मुहैया कराएगी।
इसमें बताया गया है कि डीआईडब्ल्यूटी एक सर्वेक्षक को नियुक्त करेगा जो नौका की फिटनेस का पता लगाएगा, जिसके बाद उसमें समुद्री इंजन लगाए जाएंगे।

बयान में कहा गया है कि उपायुक्त (डीसी), डीआईडब्ल्यूटीए और अन्य वरिष्ठ अधिकारी घाटों पर की गई व्यवस्थाओं का बार-बार निरीक्षण करेंगे, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि नौका सेवा सुचारू रूप से जारी रहे।

बयान के मुताबिक, निमती घाट और माजुली के लिए एसओपी के हिस्से के रूप में, एकल इंजन वाली निजी नौकाओं का परिचालन निलंबित रहेगा और सिर्फ समुद्री इंजन और रिवर्सिबल गियर से लैस नौकाओं के संचालन की अनुमति है।

बयान में बताया गया है कि माजुली और जोरहाट के बीच चलने वाली सभी 19 निजी यात्री नौकाओं को छह महीने के अंदर रिवर्सिबल गियर के साथ समुद्री इंजन से लैस किया जाएगा और इसका खर्चा सरकार उठाएगी।

सभी यात्रियों को जीवन रक्षक जैकेट पहननी होगी और सभी यात्रियों को टिकट जारी किए जाएंगे तथा उनके नाम व पता आदि एक रजिस्टर में दर्ज किए जाएंगे। बयान में कहा गया है कि माजुली और जोरहाट में एक-एक मजिस्ट्रेट को घाटों पर नौका के प्रस्थान और आगमन के दौरान मौजूद रहने के लिए नियुक्त किया जाएगा और मजिस्ट्रेट दैनिक आधार पर रिपोर्ट देंगे।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply