अमेरिका में थम नहीं रहे कोरोना के मामले, दक्षिणी राज्यों की स्थिति खराब, ऑक्सीजन की भी भारी किल्लत

वॉशिगंटन। चीन के वुहान शहर से फैले वायरस से पूरी दुनिया में हाहाकार मचा हुआ है। अमेरिका के हालात की काफी बदतर है। यहां पर 31 अगस्त को 1 लाख 57 हजार 859, 30 अगस्त को 2 लाख 80 हजार 403, 29 अगस्त को 42 हजार 158, 28 अगस्त को 88 हजार 450 नए मामले सामने आए हैं। 

इसे भी पढ़ें: अमेरिका में कोरोना का कहर जारी, अस्पतालों में ऑक्सीजन की भारी कमी, खाली बेड भी नहीं मिल रहे 

अमेरिका में कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ ही ऑक्सीजन और बेड की भारी कमी हो गई है। हालात लगातार बिगड़ते जा रहे हैं और ऑक्सीजन की आपूर्ति भी नहीं हो पा रही है। दक्षिणी राज्यों के अस्पतालों की हालत बेहद खराब है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक यहां पर वो लोग ज्यादा संक्रमित हो रहे हैं, जिन्हें वैक्सीन नहीं लगी है।

फेफड़ों में हो रही दिक्कत

अमेरिका में कोरोना के नए स्वरूप की वजह से परेशानियां बढ़ी हुई हैं। इसी बीच डॉक्टरों ने बताया कि नए स्वरूप की वजह से लोगों के फेफड़ों में दिक्कत हो रही है। वहीं कुछ मरीजों के फेफड़े पूरी तरह से खराब हो गए, जिनकी वजह से उनकी मृत्यु हो गई।

अमेरिका के हालात हो रहे बदतर

यूरोपीय संघ (EU) ने अमेरिका के यात्रियों के आगमन पर समूह के 27 देशों में पाबंदी लगाने की सिफारिश की। यूरोपीय संघ ने जून में अमेरिकी यात्रियों पर लगायी गई पाबंदी खत्म कर दी थी लेकिन एक बार फिर गैर जरूरी यात्रा के लिए सुरक्षित देशों की सूची से अमेरिका को हटा दिया गया है। 

इसे भी पढ़ें: पश्चिम बंगाल में फर्जी वैक्सीनेशन को लेकर ED ने 10 स्थानों पर की छापेमारी, IAS अधिकारी भी हुआ गिरफ्तार 

यूरोपीय परिषद का यह फैसला गैर बाध्यकारी होगा। यूरोपीय संघ के देशों में कोविड-19 के मद्देनजर यात्रा को लेकर कोई एकीकृत नीति नहीं है और संबंधित देश की सरकार को यह फैसला लेना होता है कि अमेरिकी यात्रियों के लिए सीमा खोली जाए या नहीं।

अमेरिका ने भी यूरोपीय संघ के यात्रियों के लिए अब तक अपनी सीमाएं नहीं खोली है। ईयू के नेता अमेरिका से कई बार सीमाएं खोलने का अनुरोध कर चुके हैं।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply