अमेरिका के रिपब्लिकन सीनेटरों ने बाइडन की अफगानिस्तान नीति की आलोचना की

वाशिंगटन। रिपब्लिकन पार्टी के शीर्ष सीनेटरों ने बृहस्पतिवार को राष्ट्रपति जो बाइडन की अफगानिस्तान नीति की निंदा की और कहा कि इसने देश को असुरक्षित किया और चीन जैसे प्रतिद्वंद्वियों को मजबूत बनाया। सीनेटर रिक स्कॉट ने कहा, ‘‘अमेरिका की यह लंबे समय से नीति रही है कि वह आतंकवादियों और उन्हें पनाह देने वाली सरकारों के बीच अंतर नहीं करता है। राष्ट्रपति जो बाइडन के विफल नेतृत्व की वजह से अब ऐसा नहीं रह गया।’’

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के राष्ट्रपति बाइडन ने सभी पात्र अमेरिकियों के टीकाकरण के लिए उठाए कई कदम

उन्होंने इस बात पर अफसोस जताया कि अफगानिस्तान की अंतरिम सरकार में सिराजुद्दीन हक्कानी को रखा गया है जो हक्कानी नेटवर्क का मुखिया है और अमेरिकी नागरिकों की जान लेने के लिए उसकी एफबीआई को तलाश है। उन्होंने कहा कि इसके बावजूद बाइडन प्रशासन तालिबान के तुष्टीकरण में लगा है जो शर्मनाक है। स्कॉट ने आरोप लगाया, ‘‘ ऐसे समय में जब अमेरिकी नागरिक अब भी अफगानिस्तान में फंसे हैं तो जो बाइडन उधर ध्यान नहीं दे रहे जबकि तालिबान हमें दिखा रहा है कि वह वास्तव में आतंकवादियों के खूंखार गिरोह हैं।

इसे भी पढ़ें: अमेरिका के राष्ट्रपति बाइडन ने सभी पात्र अमेरिकियों के टीकाकरण के लिए उठाए कई कदम

बाइडन ने जिस तरह की कमजोरी दिखाई, उसका फायदा हमारा प्रतिद्वंद्वी देश चीन उठाने जा रहा है।’’ सीनेटर लिंडसे ग्राहम ने कहा ‘‘अफगानिस्तान से सैनिकों को वापस बुलाने के, गलत सलाह पर लिए गए बाइडन प्रशासन के निर्णय को लेकर अगर कोई संदेह है तो यह देख कर वह संदेह दूर हो जाना चाहिए कि अफगानिस्तान की अंतरिम सरकार में कौन से ठग और कसाई शामिल हैं।’’ उन्होंने कहा ‘‘गृह मंत्रालय सिराजुद्दीन हक्कानी को दिया गया है जो आतंकवादी है और जिसके सिर पर अमेरिका ने एक करोड़ डॉलर का ईनाम घोषित किया था।

Source Link

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply