चार साल में यूपी की शिक्षा व्यवस्था बनी देश के लिए नजीर: डा. दिनेश शर्मा Aligarh News

  • राजा महेन्द्र प्रताप सिंह ने किया शिक्षा की अलख जगाने का काम
  • प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 14 सितम्बर को करेंगे जाट राजा महेन्द्र प्रताप सिंह विश्वविद्यालय का  शिलान्यास
  • विपक्ष  विकास कार्य को लेकर  सरकार का मुकाबला करने की स्थिति में नहीं
  • भाजपा की सरकार में विकास कार्यों  के सभी रिकार्ड टूटे
  • भगवान राम के अस्तित्व को नकारने वाले भी राम की शरण में
  • जातीय सम्मेलन बुद्धिजीवी वर्ग को विभाजित करने का षडयंत्र
  • पिछली सरकारों के समय में ध्वस्त हुई यूपी की शिक्षा प्रणाली
  • आज यूपी की शिक्षा व्यवस्था फिर से ए ग्रेड में रखी जा रही
  • प्रदेश में हर क्षेत्र में हुआ अभूतपूर्व कार्य

उपमुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 14 सितम्बर को अलीगढ में जाट राजा महेन्द्र प्रताप सिंह के नाम पर स्थापित होने वाले विश्वविद्यालय का शिलान्यास किया जाएगा। उन्होने अलीगढ़ में शिलान्यास स्थल का अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के साथ निराक्षण करने के बाद, शिक्षकों के सम्मेलन को संबोधित किया। उसके पश्चात प्रेस कॉन्फ्रेंस मे उन्होने कहा कि सरकार की इस पहल से लोग काफी उत्साहित है। उन्होंने कहा कि राजा महेन्द्र प्रताप सिंह एक महान स्वतंत्रता सेनानी होने के साथ ही शिक्षा की अलख जगाने के लिए हमेशा कटिबद्ध रहे। उन्होंने अपनी जमीन तमाम शैक्षिक संस्थाओं की स्थापना के लिए दान में दी थी। देश की पहली तकनीकी संस्था उनके द्वारा दान में दी गई जमीन पर ही स्थापित हुई थी। अलीगढ विश्वविद्यालय के विस्तार के लिए भी उन्होंने अपनी जमीन लीज पर दी थी। वे किसी भी प्रकार के भेदभाव को मानवता पर अत्याचार मानते थे। इस विश्वविद्यालय की स्थापना समाज और राष्ट्र के लिए उनके योगदान के प्रति कृतज्ञता मात्र है।

पत्रकारों से बात करते हुए उन्होने कहा कि पिछली सरकारों के समय में यूपी की शिक्षा प्रणाली ध्वस्त हो गई थी। हमारे शिक्षा तंत्र को सम्मान की नजर से नहीं देखा जाता था। प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था सी ग्रेड में रखी जाती थी, पर पिछले साढे चार साल के अथक प्रयासों के बाद आज प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था देश के लिए उदाहरण बन गई है। परीक्षा की शुचिता को वापस लाकर नकलविहीन परीक्षा का अनुकरणीय माडल बनाया है। आज यूपी की शिक्षा व्यवस्था फिर से ए ग्रेड में रखी जा रही है तथा ज्ञान और संस्कार के मूल तत्व इसमें वापस आ चुके हैं। प्रदेश में करीब 12 नए विश्वविद्यालयों की स्थापना हुई है। प्रदेश में पिछले साढे चार साल में क्रान्तिकारी बदलाव आया है। यूपी की छवि पूरी तरह से बदल गई है। कभी हर क्षेत्र में फिसड्डी रहने वाला यूपी आज लगभग 44 योजनाओं में अव्वल नम्बर पर है। इस बदले हुए उत्तर प्रदेश को संवारने में प्रधानमंत्री का मार्गदर्शन और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की कडी मेहनत शामिल है। प्रदेश में शिक्षा, स्वास्थ्य, सडक, बिजली, पानी सहित हर क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य हुआ है। नोयडा आज देश में आईटी का हब बन चुका है। देश में बनने वाले प्रत्येक 100 मोबाइल में से 70 मोबाइल नोयडा में बन रहे हैं।

उन्होंने कहा कि साढे चार साल में इतना विकास हुआ है कि विपक्ष विकास कार्य को लेकर सरकार का मुकाबला करने की स्थिति में नहीं है। विपक्ष में कोई ऐसा नेता नहीं है जिसने इस समय में विकास अथवा जनता के मुद्दे पर कोई आन्दोलन किया हो। ऐसा इसलिए है क्योकि भाजपा की सरकार में विकास कार्यों के सभी रिकार्ड टूट गए हैं। विपक्ष के नेताओं के दौरों को राजनैतिक पर्यटन बताते हुए उन्होंने कहा कि भगवान राम के अस्तित्व को नकारने तथा राम भक्तों व साधु संतों पर गोली लाठी चलवाने वालों को भी चुनाव के समय भगवान राम याद आ गए हैं। विपक्ष के इन दलों में कोई ऐसा नेता नहीं है जो चुनाव के पूर्व कभी भगवान राम के दर्शन के लिए गया हो। जनता सब जानती है और वे अपने इन हथकंडों से जनता को भ्रमित नहीं कर पाएंगे।

विपक्ष के जातीय सम्मेलनों पर उन्होंने कहा कि 2017 में भी इसी प्रकार का दुष्चक्र फैलाया गया था। तमाम जातीय सम्मेलन किए गए थे तथा 2019 में भी यह चरम पर था। बुद्धिजीवी वर्ग को विभाजित करने का षडयंत्र किया गया था। इसके बावजूद विपक्ष 2017 से लेकर आज तक हुए सभी चुनाव में पराजित हुआ है। ब्राह्मण एक जाति नहीं बल्कि संस्कार है। राष्ट्र के लिए समर्पित भाव से जीने की एक पद्धति है। जो अपनी भारतीय संस्कृति और परम्परा और देवी देवता को पूजित करने के साथ ही समाज के कल्याण की भावना रखता है। वह देखता है कि राष्ट्र के लिए कौन काम कर रहा है। क्या वह राम भक्तों पर गोली चलवाने वालों के साथ जाएगा।

Share:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply